बिल का झंझट खत्म होगा, सब्सिडी से छत पर लगाइए सोलर पावर प्लांट

 

आप बढ़ते बिजली के खर्च से परेशान हैं तो इसकी चिंता छोड़ दीजिए। अब खुद बिजली बनाइए और बिजली निगम को तय कीमत में बेच दीजिए। सुनने में तो यह अटपटा लगेगा, लेकिन सरकार लोगों को कुछ ऐसी ही सुविधा दे रही है। अक्षय ऊर्जा विभाग के माध्यम से ग्रिड कनेक्टिंग पावर प्लांट योजना शुरू हुई है। इसमें घरों की छतों पर सोलर प्लांट लगाकर बिजली पैदा की जाएगी। प्लांट लगाने को सरकार 30 प्रतिशत या कम से कम 20 हजार रुपये प्रति किलोवाट की सब्सिडी भी देगी।

सौर ऊर्जा से पैदा की गई बिजली की यूनिटों को वापस बिजली निगम को बेचकर आप महीने में काफी रुपये बचा सकते हैं। बिजली निगम आपके द्वारा दी गई यूनिटों का भुगतान निर्धारित 6 से 7 रुपये प्रति यूनिट के हिसाब से करेगा। योजना में 1 किलोवॉट से 500 किलोवॉट तक प्लांट स्थापित किया जा सकता है। मगर लोग अपने घर पर बिजली कनेक्शन के लोड की क्षमता तक का ही प्लांट स्थापित कर सकते हैं। जैसे किसी ने बिजली निगम से घर के लिए 2 किलोवाट का कनेक्शन ले रखा है तो उसे 2 किलोवाट क्षमता का ही प्लांट लगाने की अनुमति मिलेगी।

हरियाणा राज्य सरकार ने रूफटॉप सौर प्लांट योजना की घोषणा की है और आवेदन ऑनलाइन माध्यम से आमंत्रित किए जा रहे हैं।

हरियाणा के लोग www.hareda.gov.in पर हरियाणा अक्षय ऊर्जा विभाग की आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से छत सौर संयंत्र स्थापना के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। नीचे ऑनलाइन आवेदन फार्म भरने की पूरी प्रक्रिया है


Step 1: आधिकारिक वेबसाइट www.hareda.gov.in पर जाएं।
Step 2: दाहिनी ओर Apply Online बैनर पर क्लिक करें या सीधे इस लिंक पर जाएं।
Step 3: “लॉगिन” पर क्लिक करें और फिर “साइन अप” लिंक पर क्लिक करें।
Step 4: एक नया पृष्ठ खुल जाएगा, सभी अनिवार्य जानकारी भरें और “सबमिट करें” बटन क्लिक करें।
Step 5: “सबमिट करें” बटन पर क्लिक करने के बाद, आपको दिए गए मोबाइल नंबर पर एक OTP प्राप्त होगा, सही OTP दर्ज करें और “SUBMIT” पर क्लिक करें।
Step 6: आपका साइन अप पूरा हो गया है, अब छत सौर संयंत्र के लिए आवेदन करने के लिए लॉगिन करें


 

हरियाणा में छत सौर प्लैट योजना के तहत सब्सिडी
इस योजना के तहत राज्य सरकार सब्सिडी के रूप में 30% बेंचमार्क लागत प्रदान कर रही है। सभी आवासीय, संस्थागत और सामाजिक क्षेत्र के लिए सब्सिडी की अधिकतम सीमा 20000रु प्रति kwp निर्धारित की गयी है

रूफटॉप सौर प्लांट के क्या लाभ हैं

  • अपने बिजली बिल को 90% तक कम करें
  • 25 से अधिक वर्षों तक कोई मेंटेनन्स खर्च नहीं
  • 5 साल में आप के लगाये हुए पैसे की वापसी हो जाती है
  • कोई रखरखाव नहीं
  • लगभग 60000 रुपये- 75,000 प्रति kwp की लागत
  • बिजली बिलों में उत्पन्न कुल सौर ऊर्जा पर प्रति यूनिट -1.1.00 प्रति यूनिट तक की अतिरिक्त प्रोत्साहन।
  • नेट-मीटरिंग सुविधा के माध्यम से ग्रिड को अतिरिक्त सौर बिजली की आपूर्ति करें।
  • सालाना 1500 इकाइयां kwp बिजली उत्पन्न कर सकते हैं।

छत पर सौर संयंत्र योजना की मुख्य विशेषताएं
– छत पर सौर संयंत्र लगवाने के लिए आपको लगभग 10 वर्ग  मीटर / kWp की आवश्यकता होगी।

– कोई processing/application fee नहीं।
– हरियाणा में कुछ श्रेणियों की इमारतों में सौर ऊर्जा संयंत्र की स्थापना अनिवार्य है।
– इस योजना के तहत आपको अथॉरिटी से कोई स्वीकृति या अतिरिक्त अनुमति की आवश्यकता नहीं है।

आप एमएनआरई या फिर हरियाणा सरकार के अनुमोदित चैनल भागीदारों में से किसी से भी अपनी छत पर सौर ऊर्जा सयंत्र लगवा सकते हैं. सौर ऊर्जा सयंत्र लगने वाली कम्पनियों की सूची www.hareda.gov.in और www.mnre.gov.in पर उपलब्ध हैं.
इस योजना के बारे में अधिक जानकारी के लिए, कृपया www.hareda.gov.in पर आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।