हरयाणवी चुटकुले: यो त भाई अपने गाँव वाला डॉक्टर ऐ लाग रह्या स

 


एक हरयाणवी आदमी फर्जीवाड़ा करके डॉक्टर
बनग्या!
उसनै अपनी दुकान चलाण खातर बाहर बोर्ड
लगा दिया
“ईलाज की फीस 100 रूपये और समस्या दूर
नहीं होने पर 200 रूपये वापिस !”
तो एक आदमी 200 रपिये बनाण कै चक्कर मैं
डॉक्टर धोरे चला गया
और बोल्या :-डॉक्टर साहब मेरी जीभ खराब
हो गयी और कोए भी स्वाद महसूस नहीं होता!
डॉक्टर नर्स तै बोल्या:- जा 22 नंबर बॉक्स
मै तै दवाई लेके इसकी जुबान पर रख दे!
दवाई जीभ पर रखदे ए आदमी थूक के
बोल्या :-ओ! तेरी….या तो बहौत खाट्टी सै!
डॉक्टर बोल्या :-मुबारक हो तेरी जीभ
बिल्कुल ठीक हो गयी ला 100 रपिये!
थोडे दिन पाछै वो आदमी डॉक्टर तै बदला लेण
फेर उसकै धोरे चला गया
और बोल्या:-डॉक्टर साहब मेरी याददाश्त
कमजोर हो गयी कोए दवाई बताओ!
डॉक्टर फेर नर्स तै बोल्या:-जा 22 नंबर
बॉक्स मै तै दवाई लेके इसकी जुबान पर रख
दे!
आदमी बोल्या:- ना डॉक्टर साहब वा दवाई
तो जीभ ठीक क़रण की सै!
डॉक्टर बोल्या:मुबारक हो तेरी याददाश्त
बिल्कुल ठीक हो गयी ला 100 रपिये!