हरयाणवी चुटकुले: यो रलधू नहीं सुधरेगा

 


दरवाजे पर खट- खट की आवाज़ सुनके
रलदु : कुणसा है ??

जवाब आया पुलिस है आपसे बात करनी है

रलदु : कितने जने हों ?

जवाब आया तीन

रलदु : 
.
.
.
.
.
.
.
.
“फेर आपस मे करल्यो बात मन्नै क्यू दुखी करो हो ।”