ले भागवान और लिख वाले म्हारे पे काव्यांश।

एक बर की बात है अक नत्थू के पड़ौस मैं
कवि आकै रहण लाग्या।
जान-पिछाण काढण खात्तर नत्थू की बहू
रामप्यारी उनके घरां आन-जान लाग्गी।

जद उसनैं नयी पड़ौसन तैं बूज्झी अक
जीज्जी तेरा घरआला के काम करै है
तो वा बोल्ली-
यो कवि है अर मेरै पै रोज नई-नई
कविता लिखै है।

रामप्यारी तो भीतर ए भीतर
कती बलगी अर घरां आकै नत्थू तैं
उलाहना देते होये
बोल्ली- देख सारे जने अपनी-अपनी लुगाई नैं
सरहावैं सैं,
गाने अर कविता लिख-लिख कै रिझावैं सैं,
कदे दो अक्षर तैं भी मेरे बारे मैं बोल
दिया कर। वा नत्थू कै भूंडी ढाल पाच्छै
लाग ली।

दुखी होकै नत्थू बोल्या अक आज रात नैं
तेरे पै एक रचना गढ़ द्यूंगा। रात होते
ही रामप्यारी मचल कै बोल्ली- सुणा दे ईब
तो के गढ्या है तन्नैं?

नत्थू बोल्या-
आंख्या मैं तरै ढिड़ भरी रह,
पर तू मृगनयनी सी लागै।

चालणा तन्नैं आवै कोनीं
पर तू हिरणी सी लागै।

तेरे रूप की के तारीफ करूं ए रूपमती,

बारहां मन की धोबण है पर
ऐश्वर्या सी लागै।

कंप्यूटर अर हरियाणा आला का पुराना ऐ बैर सै। ….

छोरा अपनी गर्ल फ्रेंड तै मोबाइल पे बात कर के कंप्यूटर चलाना सिखावे था…

छोरा : माई लव कम्पुटर पै राईट क्लिक कर….

छोरी : हाँ… कर दिया…

छोरा : ऑप्शन खुलगे होंगे….?

छोरी : हां… खुल_रे है..

छोरा : ईब ऊपर देख के है..?

छोरी : पंखा…..?

छोरा : ????? लटकजा फेर मेरी सासु की ???…..।।।

आक्खर पड़ा स ताऊ भी जमा

हरियाणा के एक बाग़ में एक प्रेमी प्रेमिका का जोड़ा बेंच पे बैठा था ।
प्रेमिका बोली – तुम बहुत Cool हो ।
प्रेमी बोला – तुम भी बहुत Hot हो ।

तभी पीछे से एक ताऊ आवाज आई

“मैं तो न्यूं कहूँ कि दोनू ब्याह कर ल्यो बालक गुनगुना पैदा होवेगा”…?

भाभी कई बार चक्कर काटगी भाई

काल 7 बजे सिक पड़ोस की एक भाभी घरा आयी,
मने दरवाजा खोला तो वा बोली:- कोई बात ना जी मैं फिर आ जाऊँगी।
मनै दरवाजा बंद कर दिया।
7:30 बजे दोबारा आई,दरवाजा खोलते ए बोली:-कोई बात नही जी मैं थोड़ी हान म आ जाऊँगी।
मेरे बात समझ नहीं आई,मनै दरवाजा बंद कर दिया।
8 बजे फेर आई,दरवाजा खोला तो बोली कोए बात नही जी,मैं काल आ जाऊँगी।
मैं बोल्या:-रूक भाभी,के चक्कर है???
तीन बार आली,फेर न्यू कहदे है बाद म्हं आऊँगी!
भाभी बोली:-जी मैं जब भी आती हूँ आपके हाथ में चम्मच मिलती है,मैं सोची आप खाना खा रहे हो तो बाद में आ जाऊँ।
मैं बोल्या रै बावलीबूच या चम्मच तो हाम साँकल म्हं लाया कराँ…..???

लो हरियाणवी सिखो। हरियाणवी के कुछ शब्द।

 

लो हरियाणवी सिखो। हरियाणवी के कुछ शब्द।

Single—-राण्डा

Boy——-छोरा

Desi boy—मोल्लड़

Girl——-छोरी

Dirty girl-सुगली

Child—-बाळक

Young—-गाबरु/मलंग

Rope—जेवङी

Friend —-ढब्बी

Girlfriend-ढब्बण

Beautiful—सुथरी

Women—बिरबान्नी

Handsome–सुथरा

Biceps—कब्जे

Shoulders–खोवा

Bone—हाड

Enemy—बैरी

Noise—खुड़का/रोळा

Gussa —-छो

Majak—-मखोल

Bakwas–अळबाद

Love—लाड

Brother—बीर

Sister—भाण/बेब्बे

Back—पाछै

Thread—ताग्गा

Winter—जाड्डा

Cold air—शीळी बाळ

Fever—ताप

Blue-लील्ला

White—चिट्टा/धौळा

We—-आप्पा

Waiting—बाँट देखणा

Please wait–थम जा / थ्यावस कर

Deny–नाटणा

Different—न्यारा

Drama–खड़दू करना

Near—नेड़े / लौवै सी

Money—पीसे

Complain–उलहाणा

To remove—काढ़णा

With–गैल/गैल्ला

Strong—ठाड्डा

Bad—-भुंडा

Weak—–माड़ा

Rutba/hisab-टोहरा

Excuse me – हाड्डे सुण

Stair case—पैड़काळा

Eraser—मिटा दे

Hair—-लटूर

Garbage—अड़ंगा

Cloth—लत्ते

Jewellery—टूम ठेकरी

Dung cake–गोस्से/थेपड़ी

Rain—मीहं

Milk—डोक्का

Tea—चा

Boild gram(चने)–बाकळी

Butter milk—छा/शीत/लास्सी

Onion—गंठा

Garlic–लसण

Soap—साब्बण

Hot——-तात्ता

what——-के

Wall—-भीत

Blanket/रजाई–श्यौड

why——–क्या त/क्यूं

Naughty—–ऊत

Very naughty-अल्बादी/खपित्तर/कुब्बादी

How—क्यूक्कर

really – —–अरे हम्बै

Station——टेशन

Village—–गाम

Footwear—खौंसड़ा/छित्तर

whats up- –के होग्या

Fast fast-सैड सैड

Amazing—कसूत्ता//आखर/एंडी

Fast—-तावली/तग्गाजे त

Front—-शाहम्मी

Allmost done – कत्ती होग्या

Landlord—-*लम्बरदार*/*नम्बरदार*

Bilkul—निरोळ/जमा Copy_/रीस

Round —गेड़ा

Let him go – जान्न दै उसनै

i dont know–बेरा नी

More- -घणा

Smooth —- चीकणा

Tight—कैड़ा/करड़ा

Lady —— लुगाई

कसूर—-खोट

Ladai—रौला/खाड़े/राड़

Shout loud—रुक्के/किलकी

Pain—-भड़क

Father—– बाब्बू/बाप्पू

Drunked—भंड

To see—लखाना

Less—घाट

Mad—बावळा

mother —- माँ री

Slapping — जड़ दिया

Use less –गाड्डण जोग्गा

run away — भाज जा

stay here — याहडे/ थमजा

now ——– इभे

Meet/milna—फेटणा

not now—–इभी नी

Down—तलै

Body—गात

Ball—गिंड्डूं

Street—-गॉल

Pond—जोहड़

never——- कधे भी नी

Morning—तड़की/तड़के

AfterNoon—दपैेहरी

Wife ——– बहू

Fullfill demand-माँग पुगाणा

Husband—– बटेऊ/लोग/भर्तार/खसम

Sunlight —— घाम/चौंधा

salt ——— नूण

very——— भतेरा/घणा

gate——– कुवाड

Corner—कुण

Knee——– गोड्डा

Please Stop–थम जा /डट जा

Bat(चमगादड़)

Finger —— अंगली

animal- ——डांगर

ox- ———-बळद

Crow—काग

Buffalo son—-कटड़ा/काटडा

Human being—मानष

Happy—-राज्जी

Hide—-लुकणा

Return something—उल्टा मोड़ देना

Key—ताली

rat———-मूसा

Throw——बगाणा

Put——-टेक / धर

Like that —उसके बरगा

Hard work–खुभैेत

Type (तरह)—-जु/ढाल

Time—टेम/बखत

Somethimg went wrong—साक्का होगा

Inside—-भीत्तर

Skin—बक्कल

Tail—पुंजड़ जैसा——कैसा

Kasam–सूं

बात मान लेना—हम्बी भरना

रास्ता—राह

स्टाइल मारना-गिरकाणा

ज्यादा बनना -एंडी पाकना/माचणा

घूंघट—ओल्हा

कुछ—किम्मे

Stone—टोरड़ा

कितना—कतेक

रोटी—-टिक्कड़

जैसे–जणू/जुक्कर

किस टाइम—कोड़ बर

पिल्ला–कुतरु

Pagal है क्या—बावळी बूच है के

कम—घाट

ज्यादा–घणा

परेशान—बिराण

To cover face with cloth— ढाट्टा मारना

Dont be over smart—घणा चौधरी ना बण

Pareshan kar dena—बिराणमाट्टी

Person not doing according you—झकोई

Gazab kar diya—-चाले पाड़ दिए

हरयाणवी चुटकुले: यो त भाई अपने गाँव वाला डॉक्टर ऐ लाग रह्या स

 


एक हरयाणवी आदमी फर्जीवाड़ा करके डॉक्टर
बनग्या!
उसनै अपनी दुकान चलाण खातर बाहर बोर्ड
लगा दिया
“ईलाज की फीस 100 रूपये और समस्या दूर
नहीं होने पर 200 रूपये वापिस !”
तो एक आदमी 200 रपिये बनाण कै चक्कर मैं
डॉक्टर धोरे चला गया
और बोल्या :-डॉक्टर साहब मेरी जीभ खराब
हो गयी और कोए भी स्वाद महसूस नहीं होता!
डॉक्टर नर्स तै बोल्या:- जा 22 नंबर बॉक्स
मै तै दवाई लेके इसकी जुबान पर रख दे!
दवाई जीभ पर रखदे ए आदमी थूक के
बोल्या :-ओ! तेरी….या तो बहौत खाट्टी सै!
डॉक्टर बोल्या :-मुबारक हो तेरी जीभ
बिल्कुल ठीक हो गयी ला 100 रपिये!
थोडे दिन पाछै वो आदमी डॉक्टर तै बदला लेण
फेर उसकै धोरे चला गया
और बोल्या:-डॉक्टर साहब मेरी याददाश्त
कमजोर हो गयी कोए दवाई बताओ!
डॉक्टर फेर नर्स तै बोल्या:-जा 22 नंबर
बॉक्स मै तै दवाई लेके इसकी जुबान पर रख
दे!
आदमी बोल्या:- ना डॉक्टर साहब वा दवाई
तो जीभ ठीक क़रण की सै!
डॉक्टर बोल्या:मुबारक हो तेरी याददाश्त
बिल्कुल ठीक हो गयी ला 100 रपिये!

हरयाणवी चुटकुले: यो रलधू नहीं सुधरेगा

 


दरवाजे पर खट- खट की आवाज़ सुनके
रलदु : कुणसा है ??

जवाब आया पुलिस है आपसे बात करनी है

रलदु : कितने जने हों ?

जवाब आया तीन

रलदु : 
.
.
.
.
.
.
.
.
“फेर आपस मे करल्यो बात मन्नै क्यू दुखी करो हो ।”